Attitude Status in Hindi

      No Comments on Attitude Status in Hindi




सुन पगली हम तो ‪#‎Shauk‬ से ‪#‎Status‬ लिखते है,
पर लोगो को सच-मुच का ‪#‎Shock‬ लग जाते है.

इतना Attitude मत दिखा पगली,
मेरे फोन की बैटरी भी तुझसे ज्यादा Hot है.

ना तड़पाएगी, ना दिल को धड़कायेगी,
अपनी वाली, आने वाली ही होगी तो छप्पड़ फाड़ कर आएगी.

काश कोई उसे बता दें कि इस ‪#‎FUNNY_FACE‬ के पीछे भी ‪#‎DIL‬ है,
जो उसके लिए #‎PAGAL‬ हैं.

Bhai Digree तुझे किसी भी कॉलेज में मिलेगी पर,
नॉलेज तो तुझे मेरे Status से ही मिलेगा.

धोखा देने की बात मत कर पगली,
यहाँ ‪#‎Wish‬ पूरी ना होने पे लोग ‪#‎भगवान‬ बदल देते है….तो तू क्या चीज है.

उसने मुझसे चाहोगे मुझे कब तक,
मैंने भी मुस्कुरा के कह दिया बेवफा न हो जब तक.

ज्यादा ‪#‎Smart बनने की कोशिश मत कर पगले क्योंकि
मेरे ‪#‎बाल‬ भी तेरे ‪#‎औकात‬ से लंबे है.

मेरे पास ‪#‎Jaanu‬ ‪#‎Baby कहने वाली ‪#‎Gf नहीं है तो क्या हुआ,
मेरे पास ‪#‎Raja‬ Beta कहने वाली ‪#‎MAA तो है, जो मुझसे बहोत प्यार करती है.

सुन पगली….अगर तू अपने पापा की ‪#‎Princess होगी,
तो हम भी अपनी ‪#‎माँ_के_लाल है.

अरे ‪#‎पगली‬ मेरा ‪#‎Attitude‬ तो Airtel 4G से भी जादा ‪#‎fast‬ है,
एक बार ‪#‎Click‬ करके तो देख, बिना ‪#‎Loding‬ लिए सीधे ‪#‎Dil‬ मे उतर जाऊंगा.

दो हाथ से हम पचास लोगों को नही मार सकते,
पर दो हाथ जोङ कर हम करोङो लोगों का दिल जीत सकते है.

प्यार आज भी तुझ से उतना ही है,
बस…..तुझे एहसास नही, और हमने जताना भी छोड़ दिया.

तेरे ‪#‎पप्पा‬ से केह दे कभी हमारा
‪#‎इलाक़ा‬ घुमकर देखे, सिर्फ ‪#‎नाम‬ ही काफ़ी है उनके ‪#‎जमाई‬ का.

हमें शादी का कोई शौक नहीं है; कसम से,
ये तो आने वाले बच्चों की ज़िद है की मम्मी चाहिए.

माना की बुरा हु लेकिन,
इतना भी नहीं की याद भी न आउ.

ज़मीं पर रह कर आसमां को छूने की फितरत है मेरी,
पर गिरा कर किसी को ऊपर उठने का शौक़ नहीं मुझे.

जो लडकिया मुझे Bad Boy केहेती है,
शायद उन्हें ए नही पता की शेहेजादे कभी सुधरे हुए नही होते.

क्या हुनर हे तेरा पगली
हमारे बेग से कोई पेंसिल नहीं चुरा पाया और तूने सीने से दिलचुरा लिया.

‪#Valentine‬ तो बच्चै मनातै है, आपनी वाली तो
‪#‎Direct‬ करवा चौथ मनेयैगी.

गमंडी लड़किया मुझसे दूर ही रहे क्यूंकि,
मनाना मुझे आता नहीं और भाव में किसी को देता नही.

हमारी नियत का पता तुम क्या लगाओगे गालिब,
हम तो नर्सरी में थे तब भी मैडम अपना पल्लू सही रखती थी.

कहानी खत्म हुई और ऐसे खत्म हुई,
कि लोग रो पड़े तालियाँ बजाते हुए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *