Gautam Gambhir Biography in Hindi

      No Comments on Gautam Gambhir Biography in Hindi




गौतम गंभीर का जन्म 14 अक्टूबर 1981 को नयी दिल्ली में दीपक गंभीर के घर हुआ, जिनका एक टेक्सटाइल का व्यवसाय था और सीमा गंभीर उनकी माँ थी, जो एक गृहिणी है। गंभीर को एक बहन, एकता भी है, जो उनसे दो साल छोटी है। गंभीर को उनके दादा-दादी ने उनके जन्म के 18 दिन बाद ही गोद ले लिया था और तभी से गंभीर उन्ही के साथ रह रहे है। गंभीर ने 10 साल की उम्र में क्रिकेट खेलने की शुरुवात की थी।

नयी दिल्ली की मॉडर्न स्कूल से उन्होंने अपनी स्कूल की पढाई पूरी की और दिल्ली यूनिवर्सिटी के हिन्दू कॉलेज से वे ग्रेजुएट हुए। 90 के दशक में वे अपने अंकल पवन गुलाटी के घर पर रहते थे। गंभीर शुरू से ही गुलाटी को अपना सलाहकार मानते थे और हमेशा महत्वपूर्ण मैचों से पहले उनसे बात किया करते थे। गंभीर के कोच लाल बहादुर शास्त्री अकैडमी, दिल्ली के संजय भरद्वाज और राजू टंडन थे। सन 2000 में पहली बार गंभीर की नियुक्ती नेशनल क्रिकेट अकैडमी में की गयी थी।

अक्टूबर 2011 में गंभीर ने नताशा जैन से शादी की, जो विशाल व्यापारी परिवार से संबंध रखती थी।

गौतम गंभीर बाए हात के ओपनिंग बल्लेबाज है जो दिल्ली की तरफ से घरेलु क्रिकेट भी खेलते है और आईपीएल की टीम कोलकाता नाईट राइडर्स के कप्तान भी है। उन्होंने अपने एकदिवसीय क्रिकेट की शुरुवात सन 2003 में बांग्लादेश के खिलाफ की थी और अगले ही साल उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना पहला टेस्ट मैच खेला था। 2010 से 2011 के बीच उन्होंने भारतीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टीम की 6 मैचों में कप्तानी भी की है, उनकी कप्तानी में भारत वो 6 के 6 मैच जीता भी था। भारत द्वारा जीते गये दोनों वर्ल्ड कप फाइनल, 2007 वर्ल्ड टी20 (54 गेंदों में 75 रन) और 2011 क्रिकेट वर्ल्ड कप (112 गेंदों में 97 रन) में महत्वपूर्ण इनिंग खेली थी।

उन्हें सन 2008 में भारत के राष्ट्रपति द्वारा भारत के दुसरे सर्वोच्च खेल अवार्ड अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया था। 2009 में आय.सी.सी. टेस्ट रैंकिंग में वे दुनिया के नंबर 1 बल्लेबाज बने। उसी साल उन्हें आय.सी.सी. टेस्ट प्लेयर ऑफ़ दी इयर के अवार्ड से भी सम्मानित किया गया था।

Interesting Facts about Gautam Gambhir :

• उन्होंने अपना पहला टेस्ट शतक सन 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ लगाया था।

• गंभीर ने एकदिवसीय मैचों में पर्दापण सन 2003 में बांग्लादेश के खिलाफ टीवीएस कप में किया था। अपने तीसरे मैच में उन्होंने 71 रन बनाकर मैन ऑफ़ दी मैच का ख़िताब जीता था।

• उन्होंने अपने टेस्ट करियर की शुरुवात 2004 में बॉर्डर गावस्कर ट्राफी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे और अंतिम टेस्ट मैच में की थी, लेकिन उसमे वे ज्यादा रन नही बना पाए।

• उन्होंने अपना पहला शतक सन 2005 में श्री लंका के खिलाफ जड़ा था, जिसमे उन्होंने 97 गेंदों पर 103 रन बनाए।

• 2005 से 2007 के बीच उन्होंने कई एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेले, लेकिन वे टेस्ट टीम से बाहर रहे।

• 2007 आयसीसी वर्ल्ड टी20 के स्क्वाड में उनका चयन किया गया था, जो भारत ने पाकिस्तान को हराकर जीता था।

• बाद में लगातार अच्छी परियां खेलकर, सन 2008 में गंभीर ने भारतीय टेस्ट क्रिकेट में भी अपनी जगह बनायी।

• वीरेंद्र सहवाग के साथ ओपनिंग साझेदारी करते हुए, उन्होंने 7 मैचों में 858 रन जोड़े थे जिसमे बॉर्डर-गावस्कर ट्राफी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगाया गया दोहरा शतक भी शामिल है।

• सन 2008 में उन्हें अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया।

• सन 2009 में वे आयसीसी टेस्ट रैंकिंग के नंबर 1 बल्लेबाज बने। उसी साल उन्हें आयसीसी टेस्ट प्लेयर ऑफ़ दी इयर के अवार्ड से भी सम्मानित किया गया था।

• रन लेते समय जब ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज शेन वाटसन ने उन्हें कोहनी से टक्कर मारी थी तो वे बड़े विवाद में फस गये थे। इसके बाद उनपर 1 टेस्ट का प्रतिबंध लगाया गया था।

• 2009 में उन्हें आयसीसी प्लेयर ऑफ़ दी इयर बनाया गया था और उसी साल वे आयसीसी टेस्ट रैंकिंग के नंबर 1 बल्लेबाज भी बने।

• गंभीर को आईपीएल की दिल्ली डेयरडेविल्स फ्रेंचाइजी ने कुल 725000 USD देकर ख़रीदा था।

• दिल्ली के एकमात्र वे ऐसे बल्लेबाज है जिन्होंने 2010 के आईपीएल में 1000 से भी ज्यादा रन बनाए हो।

गौतम गंभीर भारत के सर्वश्रेष्ट बल्लेबाजो में से एक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *